Maut Shayari

Maut Shayari | मौत शायरी 2022

Maut Shayari – Read here our latest collection of Girl Maut Shayari, Maut ki Shayari, Maut Shayari 2 Line, Maut Ki Dua Shayari in Hindi, Maut Sad Shayari, Maut Shayari In Hindi For Girlfriend/Boyfriend , Shayari On Maut and Zindagi, मौत स्टेटस इन हिंदी, Mohabbat aur Maut Shayari, Maut Shayari In English

Maut Shayari

Maut Shayari
मौत शायरी फोटो | Maut Shayari Image

लम्बी उम्र की दुआ मेरे_लिए न माँग,
ऐसा न हो कि तुम भी छोड़ दो और #मौत भी न आये..!!

Lambi Umar Ki Duaa Mere_Liye Na Maag,
Aisa Na Ho Ki Tum Bhi Chhod Do Aur #Maut Bhi Na Aaye…

किसी दिन तेरी_नजरों से दूर हो जायेंगे हम,
दूर फिजाओं में कहीं खो_जायेंगे हम,
मेरी यादों से लिपट कर_रोने लगोगे,
जब ज़मीन को ओढ़ कर सो_जायेंगे हम.!!

Kisi Din Teri Najron Se Door Ho_Jayenge Hum,
Dur Fizaon Mai Kahin_Kho Jayenge Hum,
Meri Yaadon Se Lipat Kar Rone_Aaoge Tum,
Jab Zamin Ko Odh Kar So Jayenge_Hum.!!

तमाम उम्र जो हमसे_बेरुखी की सबने,
कफ़न में हम भी अजीज़ों से_मुँह छुपा के चले.!!

Tamam Umar Jo Ki Humse Be_Rukhi Sab Ne,
Kafan Mein Hum Bhi Ajeezon Se-Munh Chhupa Ke Chale..!!

किससे महरूम_ए_किस्मत की शिकायत कीजे,
हमने चाहा था कि मर_जायें सो वो भी नहीं हुआ.!!

Kis Se Mahroom_e_Kismat Ki Shikayat Keeje,
Humne Chaha Tha Ki Mar Jaayein So Wo Bhi Nahi_Hua..!!

वही तफरीक का आलम है बाद_ए_मर्ग भी यारों,
न कतबे एक_जैसे हैं, न कब्रें एक जैसी हैं.!!

Wahi Tafreeq Ka Aalam Hai Baad_e_Marg Bhi Yaaro,
Na Katbe Ek Jaise Hain, Na Qabrein Ek_Jaisi Hain.!!

किसी दिन तेरी_नजरों से दूर हो जायेंगे हम,
दूर फिजाओं में कहीं_खो जायेंगे हम,
मेरी यादों से लिपट कर_रोने लगोगे,
जब ज़मीन को ओढ़ कर सो जायेंगे_हम..

Kisi Din Teri Najron Se Door Ho_Jayenge Hum,
Dur Fizaon Mai Kahin_Kho Jayenge Hum,
Meri Yaadon Se Lipat Kar Rone_Aaoge Tum,
Jab Zamin Ko Odh Kar So Jayenge_Hum.!!

Maut Shayari In Hindi

maut shayari in hindi
मौत शायरी इन हिंदी

तसव्वुर में न जाने कातिबे_तकदीर क्या था,
मेरा अंजाम लिखा है मेरे आगाज से पहले..!!

Tasawwur Mein Na Jaane Katib_e_Taqdir Kya Tha,
Mera Anjaam Likha Hai Mere Aagaaz Se Pahle..!!

वादे तो हजारों किये थे उसने मुझसे,
काश एक वादा ही उसने निभाया होता,
मौत का किसको पता कि कब आएगी,
पर काश उसने ज़िन्दा जलाया न होता.!!

Vaade To HaJaaron Kiye The Usne Mujhse,
Kaash Ek Vaada Hi Usne Nibhaya Hota,
Maut Ka Kisko Pata Ki Kab Aayegi,
Par Kaash Usne Zinda #Jalaya Na Hota.!!

मौत से शिकायत नहीं,
अपनों से हे,
क्युकी जरा सी आंख बंद क्या हुई,
वो कब्र खोदने लगे.

उडा ले जाएँगी चंद सासे हे वो,
इससे ज्यादा मौत मेरा क्या ले जाएँगी.

अब नाराजगी खत्म कर दे,
मौत से कह दो,
वो बदल गया हे जिसके लिए,
हम जिन्दा थे.

Maut Shayari 2 Line

Maut Shayari 2 Line
दो लाइन मौत शायरी | 2 Line Maut Shayari

मेरी ज़िंदगी तो गुजरी तेरे हिज्र के सहारे,
मेरी मौत को भी कोई बहाना चाहिए.

कमाल है न जाने ये कैसा उनका प्यार का वादा है,
चंद लम्हे की जिंदगी और नखरे मौत से भी ज्यादा हैं.

तू बदनाम ना हो इसलिए जी रहा हूँ मैं,
वरना मरने का इरादा तो रोज होता है.

मौत ख़ामोशी है चुप रहने से चुप लग जाएगी,
ज़िंदगी आवाज़ है बातें करो बातें करो.

वो कर नहीं रहे थे मेरी बात का यकीन,
फिर यूँ हुआ के मर के दिखाना पड़ा मुझे.

अलविदा मौत शायरी

अलविदा मौत शायरी
अलविदा मौत शायरी फोटो

हमारी मौत भी एक जश्न होगा,
प्यारा सा कोई नगमा गाया जायेगा,
हंसते हुए अलविदा कहेंगे हम,
रोता हुआ जमाना हमें विदा करेगा…

मौत की खबर आये तो ये न समझना ,
की हम दगाबाज थे,
किस्मत में गम इतने दिए बस जरा,
से परीशान थे.

मिनटों का खेल हे मौत से क्या डरे ,
आफत तो जिंदगी हे जो बरसो ,
चला करती हे.

जरा दीदार तो कर लो ,
मेरे चहेरे से कफ़न हटा कर ,
बंद हो गई हे वो आंखे ये बेवफा ,
जिन्हे तुम रुलाया करते थे.

तुम समझते हो की मुझे जीने,
की तलब हे,
मगर मेतो जिन्दा इस आस में हु,
की मरना कब हे.

लोग बदनाम करते हे मौत को तो यु ही,
तकलीफ तो साली जिंदगी देती हे.

मौत की चाहत शायरी

मौत की चाहत शायरी
Maut ki shayari

एक न एक दिन
हर एक को खाक में मिल जाना हैं.

जरा चुपचाप तो बैठो कि दम आराम से निकले,
इधर हम हिचकी लेते हैं उधर तुम रोने लगते हो.

कोई मृत्यु नहीं है,
केवल संसार का परिवर्तन हैं.

मौत एक जीवन को समाप्त करता है,
एक रिश्ते को नहीं.

मौत का नही खौफ मगर एक दुआ है रब से,
कि जब भी मरु तेरे होने का एहसास मेरे साथ मर जाये.

सौ जिंदगी निसार करूँ ऐसी मौत पर,
यूं रोये ज़ार-ज़ार तू अहल-ए-अज़ा के साथ.

हद तो ये है कि मौत भी तकती है दूर से,
उसको भी इंतजार मेरी खुदकुशी का है.

जहर के असरदार होने से कुछ नही होता साहब
खुदा भी राजी होना चाहिये मौत देने के लिये.

Maut Ka intezar Shayari in Hindi

Maut Ka intezar Shayari in Hindi
Shayari on maut

पैदा तो सभी मरने के लिये ही होते हैं,
पर मौत ऐसी होनी चाहिए, जिस पर जमाना अफसोस करे.

चंद साँसे बची हैं आखिरी बार दीदार दे दो,
झूठा ही सही एक बार मगर तुम प्यार दे दो,
जिंदगी तो वीरान थी मौत भी गुमनाम ना हो,
मुझे गले लगा लो फिर मौत मुझे हजार दे दो.

पहले ज़िन्दगी छीन ली मुझ से,
अब मेरी मौत का फायदा उठाती हैं,
मेरी क़बर पर फूल चढ़ाने के बहाने,
वो किसी और से मिलाने आती है.

कितना और दर्द देगा बस इतना बता दे,
ऐसा कर ऐ खुदा मेरी हस्ती मिटा दे,
यूं घुट घुट के जीने से तो मौत बेहतर है,
मैं कभी न जागूं मुझे ऐसी नींद सुला दे.

मंज़िल तोह तेरी यही थी बस ज़िन्दगी,
गुजर गयी तेरी यहाँ आते आते क्या.
मिला तुझे इन् दुनिया वालो से अपनों,
ने ही जला दिए तुझे जाते जाते.

आँखों में पानी रखो होंठो पे चिंगारी रखो,
ज़िंदा रहना है तोह तरकीबें बहुत सारी रखो,
एक ही नदी के हैं यह दो किनारे दोस्तों,
दोस्ताना ज़िन्दगी मौत से यारी रखो.

Maut Ki Dua Shayari in Hindi

Maut Ki Dua Shayari in Hindi
Maut shayari girl

उसकी यादों ने मुझे पागल बना रखा है,
कहीं मर ना जाऊं कफ़न सिला रखा है,
मेरा दिल निकाल लेना दफ़नाने से पहले,
वो ना दब जाए जिसे दिल मे बसा रखा है.

मौत मांगते है तो ज़िन्दगी खफा हो जाती है,
जहर लेते है तो वो भी दवा हो जाती है,
तु बता ऐ ज़िन्दगी तेरा क्या करू,
जिसको भी चाहा वो बेवफा हो जाती है.

ना चाँद अपना था और ना तू अपना था,
काश दिल भी मान लेता की सब सपना था,
कोई नही आएगा मेरी ज़िदंगी मे तुम्हारे सिवा,
एक मौत ही है जिसका मैं वादा नही करता.

क्या कहूँ तुझे… ख्वाब कहूँ तो टूट जायेगा,
दिल कहूँ, तो बिखर जायेगा,
आ तेरा नाम ज़िन्दगी रख दूँ,
मौत से पहले तो तेरा साथ छूट न पायेगा.

भरी महफ़िल में कल सरेआम लगाया था,
जी हैं शराब से नफरत करने वाले ने जाम लगाया था,
और एक बार नहीं बार – बार लगाया था,
लगता है किसी पत्थर दिल ने उसे बहुत रुलाया था.

Maut Shayari For Boyfriend

Maut shayari for boyfriend
Heart touching maut shayari

सुना है कोई और भी चाहने लगा है,
तुम्हें अगर हमसे ज्यादा चाहे तो,
उसी के हो जाना हमेशा के लिए.

बढ़ जाती है मेरी मौत की तारीख खुद ब खुद आगे,
जब भी कोई तेरी सलामती की खबर ले आता है.

जो बदल गया वो प्यार कैसा जो चोर गया,
वो साथ केसा लोग कहते है तुझे फिर से,
प्यार हो जायेगा लेकिन जो फिर से,
हो जाये वो प्यार कैसा.

किसी को दिल से चाहना बुरा तो नहीं किसी,
को दिल में बसना बुरा तो नहीं गुनाह गोगा,
ज़माने की नज़र में तो क्या हुआ ज़माने,
वाले भी इंसान है कोई भगवान तो नहीं.

न उड़ाओ यूं ठोकरों से मेरी खाके-कब्र ज़ालिम,
यही एक रह गई है मेरे प्यार की निशानी.

अगर तुझे चाहने से मौत आये,
तू मौत कुबूल है मुझे,
तुझे चाहना फितरत है मेरी,
तेरे बिना बीती हर शाम,
लगती फ़िज़ूल है मुझे.

ओढ़ कर मिट्टी की चादर बेनिशान हो जायेंगे,
एक दिन आएगा हम भी दास्ताँ हो जायेंगे.

Maut Shayari For Girlfriend

Maut Shayari For Girlfriend
Pyar me maut shayari

जन्नत किसी कहते है पता नहीं,
एक तुम्हारा मिल जाना ही काफी था,
मौत किसी कहते है पता नहीं,
एक तुमसे बिचड़ जाना ही काफी था.

अगर रुक जाये मेरी धड़कन तो मौत न समझना,
कई बार ऐसा हुआ है उसे याद करते करते.

कितना दर्द है दिल में दिखाया नहीं जाता,
किसी की बर्बादी का किस्सा सुनाया नहीं जाता,
एक बार जी भर के देख लो इस चहेरे को,
क्योंकि बार-बार कफ़न मुहं से उठाया नहीं जाता.

वादे तो हजारों किये थे उसने मुझसे,
काश एक वादा ही उसने निभाया होता,
मौत का किसको पता कि कब आएगी,
पर काश उसने ज़िन्दा जलाया न होता.

जिसकी याद में सारे जहाँ को भूल गए,
सुना है आजकल वो हमारा नाम तक भूल गए,
कसम खाई थी जिसने साथ निभाने की यारो,
आज वो हमारी लाश पर आना भूल गए.

मौत को जीना सीखा देंगे,
इतना शिद्धत से ज़िन्दगी काटी है,
आंसू बहा करते है रोज़ फिर भी,
सब में खुशिया बाटी है.

Shayari On Maut and Zindagi

Shayari On Maut and Zindagi
जिंदगी और मौत पर शायरी

मौत तू तो जवाब दे,
लोगों की भीड़ में अकेला हूँ,
कम से कम तू तो मेरा हाथ थाम ले.

मेरी मौत उस दिन ही हो गई थी,
जिस दिन तुमने मुझको धोखा दिया,
अब तो बस खाक होना बाकी हैं.

ना मिलने कि खुशी,
ना खोने का गम,
ज़िन्दगी ने हमें यूं संवारा,
अब मौत से डरते नहीं हम.

उन दो पंक्तियों में,
मैंने अपनी पूरी कहानी लिख दी,
मौत बड़ी पास से गुजरी,
जिन्द़गी ने होंठों पर झूठी मुस्कुराहट रख दी.

ऐ मौत….!
क्या सुनाऊं अपने सब्र की कहानी,
तू उम्र भर रही, मेरी कब्र की रवानी.

कुछ रियायतें अता कर दो,
मेरे अपने हो गैर नहीं,
सजा टूट कर जीने की है,
मौत की नहीं.

Mohabbat Aur Maut Shayari

Mohabbat Aur Maut Shayari
मोहब्बत और मौत पर शायरी

अब मौत से कह दो कि नाराजगी खत्म करले,
वो बदल गया है जिसके लिए हम ज़िन्दा थे.

मौत से इस कदर डरते है हम,
मौत आसान करने के लिए,
रोज़ मरते है हम.

कितने भी पैर जमा ले दुनिया में,
मौत इक दिन उखाड़ ले जाएगी.

नाराजगी होती तो मान भी लेते,
मगर उसने ठिकाना दूसरा ढूढ़ा रखा था.

मोहब्बत और मौत दोनों बिन बुलाये मेहमान होते हैं,
कब आ जाए कोई नहीं जानता लेकिन दोनों का,
एक ही काम हैं एक को दिल चाहिए दूसरी को धड़कन.

मोहब्बत में उसके साथ नाम जोड़ कर उसके,
घर बारात ले जाने का हमने अरमान देख लिया,
उसके हांथो में मेहँदी रची देख किसी और के,
नाम की अपनी ही मौत का पैगाम देख लिया.

पहला प्यार सोचा था तो दूसरा हुआ क्यों,
अगर दूसरा प्यार सच्चा है तो पहले याद आ रहा क्यों.

मौत भी टकराया न जाने कितने बार मुझसे,
पर मैं तेरा दीवाना था किसी और पे कैसे मर सकता था.

प्यार में सब कुछ भुलाए बैठे हैं,
चिराग यादों के जलाये बैठे है,
हम तो मरेंगे उनकी ही बाहों में,
ये मौत से शर्त लगाये बैठे हैं.

Maut Shayari In English

Maut Shayari In English
Maut ka intezar shayari

Maut Hi Jindgi Se Tab Behtar Lagti Hai,
Dil Me Kisi Ki Yado Ki Jab,
Chingari Sulagti Hai.

Waqt Ko Mlham Banana Sikh Lo,
Harna To Muat Ke Samne Hai,
Jindgi Se To Jitna Sikh Lo.

Us Pal Hi Maut Se Mulakat Hogi,
Jis Pal Zindagi Ke Aakhri Raat Hogi,
Tere Apne Hi Jala Kar Jayege Tumhe,
Teri Ahmiyat Bas Khas Hogi.

Kuch Khas Fark Nahi Parta,
Jeene Ka Andaj Badal Lene Se,
Bas Fasle Maut Tak Jindgi Ke,
Kuch Majedar Si Ho Jate Hai.

Aata Hai Kaun Kaun Tere Gam Ko Batne,
Galib Tu Apni Maut Ki Afwah Uda Kar Dekh.

Finalword

दोस्तों मुझे पूरी उम्मीद करता हूँ की आपको Maut Shayari In Hindi बहुँत पसन्द आयी होंगी. आप मौत शायरी को सोशल मीडिया साइट्स व्हाट्सप्प, फेसबुक, इंस्टाग्राम आदि पर शेयर करना ना भूलें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button