Kismat Shayari

150+ Kismat Shayari in Hindi – किस्मत शायरी इन हिंदी

बदकिस्मत शायरी हिंदी

बदकिस्मत शायरी हिंदी

बदकिस्मत था मैं जो हर जगह हारा,
मैंने जिसको चाहा उसने ही मुझे मारा.

बदकिस्मत पर शायरी, बदकिस्मत शायरी, बदकिस्मत शायरी हिंदी, badkismati shayari, badkismati shayari in hindi,
बदकिस्मत पर शायरी

देखो तो यारों कैसी बदकिस्मत हमने पाई है,
हर बेवफा लड़की मेरे नसीब में ही आयी है.

बुरी किस्मत वालों की एक लिस्ट बनाई जाए,
सबसे पहले उसमें मेरी फ़ोटो लगाई जाए.

किस्मत हमारी हमें उंगलियों पर नचाती है,
ऐसी किस्मत है मेरी,
जो बदकिस्मत कहलाती है.

मेरे ख्वाबों में उसका हर रोज़ आना जाना था,
उस परी के लिए मैं हुआ दीवाना था,
मगर हम तो ठहरे बदकिस्मत वाले,
उसको तो किसी किस्मत वाले के पास जाना था.

दिल में शोंक बड़े बड़े पाले हुए हैं,
मगर हम बदकिस्मती के मारे हुए हैं.

अब खुद का मज़ाक
खुद ही बना लेते हैं
जहाँ कामयाब नहीं हो पाते
वहां बदकिस्मत बता देते हैं,

दोस्त भी ना रहे साथ,
अपनों ने भी छोड़ दिया हाथ,
क्या बताएं हम ज़िंदगी के बारे में,
बदकिस्मत है ज़िंदगी की ना करो बात.

दोष दें भी तो किसको दें,
उसे भी अपनी इज्ज़त को बचाना था,
बदकिस्मत हम ही थे,
बुरा नहीं यह जमाना था.

बहुत खूबसूरत है आंखे तुम्हारी,
इन्हें बना दो किस्मत हमारी,
हमें नहीं चाहिये ज़माने की खुशियाँ,
अगर मिल जाये मोहब्बत तुम्हारी.

Previous page 1 2 3 4 5 6 7 8 9

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button